जैन विरुद्ध अनूप मंडल मामला:-

5
(1)
287

अनोप मंडल के खिलाफ देश की पहली FIR मई 2014 में हुई थी रायपुर में दर्ज

साइबर सेल की टीम ने बेवसाइट व फेसबुक पेज कराया था प्रतिबंधित

अनूप मंडल के अनुयायियों द्वारा शिकायत करता को कई बार दी गई थी जान से मारने की धमकी

जैन समाज के कट्टर विरोधी अनूप मंडल व उसके अनुयायियों द्वारा जैन समाज, धर्म रीतिरिवाज , ग्रंथ, साधु संतों व तीर्थंकरों के खिलाफ शोसल मीडिया में अपमानजनक व झूठी भ्रामक बाते पोस्ट करने पर छत्तीसगढ़ जैन युवा श्रीसंघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रवीण जैन ने रायपुर के सरस्वती नगर थाने में नई 2014 अनूप मंडल और उसके अनुयाईयों के खिलाफ ipc की धारा 295(क), 153(क) एवं it act की धारा 66, 66(क) के अंतर्गत अपराध पंजिबद्ध कराया गया था जिसकी FIR की कॉपी संलग्न है तथा अनूप मंडल और उसके अनुयायियों के खिलाफ काफी समय तक अभियान चलाया गया था, जिसके बाद रायपुर साइबर सेल ने उसकी कई बेवसाइट व आपत्तिजनक फेसबुक पेज को ब्लॉक कर दिया गया था, इससे बौखलाए अनोप मंडल के अनुयायियों का लगातार धमकी भरा फोन महाराष्ट्र, राजस्थान व उड़ीसा से प्रवीण जैन को आते रहे, प्रवीण जैन द्वारा पूरा मामला पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य, भाजपा महासचिव अनिल जैन, स्व. निर्मल कुमार सेठी के समक्ष दिल्ली जाकर रखा तथा छत्तीसगढ़ जैन समाज के कई पदाधिकारियों को भी पत्र के माध्यम से जानकारी दी, किन्तु बहुत अधिक कार्यवाही नही हो सकी और वह लड़ाई दब गई, जिससे अनूम मंडल गिरोह के हौसले बढ़ते चले गए, आज हमारे साधुओं ने अनूप मंडल गिरोह के खिलाफ आवाज बुलंद की है, हम सभी श्रावकों को कंधे से कंधा मिलाकर उनका साथ देना है।
आप सभी जैन धर्मावलम्बियों से निवेदन है कि इस fir के आधार पर अपने अपने प्रदेश के हर जिले, शहर, कस्वे में इसके खिलाफ मामला दर्ज कराइये।

प्रवीण जैन
प्रदेश अध्यक्ष
छत्तीसगढ़ जैन युवा श्रीसंघ 9329484701

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

About Author

Connect with Me:

Leave a Reply

  • error: Content is protected !!