Praveen Jain

10 वी बोर्ड के परिणाम घोषित। इस लिंक में जाकर परिणाम देखें।

3,787

IMG_20170421_102649रायपुर. छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ( सीजीबोर्ड) ने 10वीं क्लास के रिजल्ट घोषित कर दिए हैं। इस बार 10वीं के रिजल्ट में 61 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इस परीक्षा में 4 लाख 566 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट www.cgbse.net orwww.results.cg.nic.in पर देख सकते हैं।

ऐसे चेक करें रिजल्ट

×

1. सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं।
2. इसके बाद रिजल्ट देखने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें।
3. अपना रोल नंबर और नाम डालें।
4. आपकी स्क्रीन पर रिजल्ट फ्लैश हो जाएगा।

शिक्षा मंत्री केदार कश्यप प्रदेश ने परिणाम घोषित किया। इस दौरान मंडल अध्यक्ष विकासशील, सचिव सुधीर अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। परीक्षा परिणाम में देरी होने की वजह टॉप 100 में आने वाले परीक्षार्थियों की कॉपियों की तीन बार जांच बताई जा रही है।

जनता ने जितनी नफ़रत से कांग्रेस को उखाड़ फेंका है उतने ही प्रेम से इसे वापस भी लायेगी। जो बुजदिल हैं वे पार्टी छोड़ भाग रहें हैं।

4,052

जनता ने जितनी नफ़रत से कांग्रेस को उखाड़ फेंका है उतने ही प्रेम से इसे वापस भी लायेगी।

जो बुजदिल हैं वे पार्टी छोड़ भाग रहें हैं।

Adv. Praveen Jain ✍?
जो स्वार्थी मतलबी लोग पार्टी में मनमानी करते आये थे और पार्टी की बदौलत पद प्रतिष्ठा, नाम, जनाधार प्राप्त किया और अहंकार वश स्वयं को पार्टी से भी श्रेष्ठ और बड़ा समझने लग गये वे लोग ही पार्टी छोड़ भाजपा का दामन थाम रहें है। इन लोगों के लिए सिद्धांत और विचार धारा कोई मायने नही रखती, यदि किसी को किसी अन्य पार्टी नेता से तकलीफ थी तो बुजदिल ना बनते बल्कि परिस्थितियों का डट कर सामना करते ये लोग तात्कालिक लाभ के लिए पार्टी रूपी मां और बाप बदल रहें है। इन कमजोर और भगौड़ों को सदा याद रखना चाहिये कि जब जब कांग्रेस कमजोर होकर सत्ता से बाहर हुई है वह अौर भी ताकत के साथ वापस आई है। आपात्काल के बाद 1977 के चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ़ इतना जबर्दस्त प्रचार हुआ था कि लोग सन 71 की जीत अौर बंगला देश की स्थापना को भी भूल गये। स्वयं इन्दिरा गांधी की ज़मानत तक ज़ब्त हो गयी थी। जनता के मन में पूरा विश्वास जमा दिया गया था कि इन्दिरा गांधी ने देश को तबाह कर दिया। जब जनता पार्टी आयेगी तो सारी बुराइयाँ दूर हो जायेंगी। न भ्रष्टाचार रहेगा, न महंगाई, कोई रिश्वत नहीं लेगा, काला धन नहीं कमायेगा, दूसरे शब्दों में देश के अच्छे दिन आ जायेंगे ।जनता पार्टी का शासन आया तो थोड़े दिन जश्न का माहौल रहा । कांग्रेस ये नहीं करती थी , कांग्रेस वो नहीं करती थी , पर शासन चलाना उनको आया ही नहीं ।देश की अर्थव्यवस्था चौपट हुई, विकास रुक गया, आम आदमी त्रस्त होने लगा। तब जनता की आँखें खुलीं अौर कांग्रेस को दुबारा सत्ता में लाई। यही अब भी होगा। जनता ने जितनी नफ़रत से कांग्रेस को उखाड़ फेंका है उतने ही प्रेम से इसे वापस भी लायेगी। कांग्रेस का 130 साल पुराना इतिहास देश के किसानों ,मजदूरो, गरीबों ,पीड़ित जनों के प्रति सहानुभूति का रहा है। जब भी जनता को लगेगा कि अशान्ति अौर हिंसा से हमारा कल्याण नहीं होगा तब उसे कांग्रेस की सत्य अहिंसा की नीति याद आयेगी। जब भी उसे लगेगा कि प्रत्येक नागरिक को उसके मौलिक अधिकारों से वंचित होना पड़ रहा है, तब उसे कांग्रेस की याद आयेगी जिसने हमेशा बिना भेदभाव के सबके हितों की रक्षा की है। जब भी उसे लगेगा कि देश ने जितना भी विकास किया है वह कांग्रेस के शासन में ही किया है ,तब उसे कांग्रेस की याद आयेगी ।जब भी उसे महसूस होगा कि हमें बातें करने वाली नहीं काम करके ठोस परिणाम दिखाने वाली सरकार चाहिये, उसे कांग्रेस को वापस लाना पड़ेगा। अभी तो देश की जनता काफ़ी खुश है ।वह गैर जरूरी मुद्दों में उलझने को ही विकास मान रही है ।उसे पता ही नहीं कि कांग्रेस को हटाकर उसने क्या गलती की है। ऐसे में कांग्रेस का चुप रहना ही बेहतर है। अभी कोई उस पर विश्वास नहीं करेगा। जब जनता के मन में अकुलाहट पैदा होगी तो कांग्रेस के लिये अनुकूल स्थिति पैदा होगी ।
कांग्रेस कभी मिट नहीं सकती। कांग्रेस को कोई मिटा नही सकते।
जय कांग्रेस

प्रवीण जैन
जिलाध्यक्ष
कांग्रेस व्यापार रायपुर

बाबरी मस्जिद केस: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- आडवाणी, जोशी और उमा सहित बड़े नेताओं पर चलेगा साजिश का केस

4,237

बाबरी मस्जिद केस: सुप्रीम कोर्ट का फैसला- आडवाणी, जोशी और उमा सहित बड़े नेताओं पर चलेगा साजिश का केस

सुप्रीम कोर्ट ने लखनउ में आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती और अज्ञात ‘कारसेवकों’ के खिलाफ दो अलग-अलग मामलों की संयुक्त सुनवाई का आदेश दिया है. राजस्थान के राज्यपाल होने के कारण कल्याण सिंह को संवैधानिक छूट प्राप्त है और उनके कार्यालय छोड़ने के बाद ही उनके खिलाफ मामला चलाया जा सकता है.

लखनऊ की अदालत को को आदेश, दैनिक आधार पर हो सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने लखनऊ की अदालत को इन मामलों पर स्थगन की मंजूरी दिए बिना दैनिक आधार पर सुनवाई करने का आदेश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि अभियोजन के कुछ गवाहओं को बयान दर्ज कराने के लिए निचली अदालत में पेश होना होगा.
चार सप्ताह में कार्यवाही शुरू लखनऊ कोर्ट- SC

सुप्रीम कोर्ट ने ये भी आदेश दिया है कि बाबरी मस्जिद मामले की सुनवाई कर रही निचली अदालत के जजों को निर्णय दिए जाने तक स्थानांतरित नहीं किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई कर रही लखनऊ की अदालत को चार सप्ताह में कार्यवाही शुरू करने और यह स्पष्ट करने का निर्देश दिया है कि इस मामले की नए सिरे से कोई सुनवाई नहीं होगी.

वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई दो साल में पूरी करने का आदेश दिया है. बता दें कि बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद दो एफआईआर दर्ज हुई थी. एक एफआईआर लखनऊ में तो दूसरी एफआईआर फैज़ाबाद में दर्ज की गई थी.

यहां समझे पूरा अयोध्या मामला

यहां आपको बता दें कि अयोध्या मामले से जुड़े सुप्रीम कोर्ट में दो केस चल रहे हैं. पहला केस मंदिर है या मस्जिद. ये मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में लंबित है. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अभी तक कोई फैसला नहीं सुनाया है. वहीं, दूसरा केस ढांचा गिराने को लेकर है. आज ढांचा गिराने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुनाया है.

इस फैसले का क्या असर होगा?

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब कल्याण सिंह पर राज्यपाल के पद से इस्तीफे देने का नैतिक दबाव होगा, जबकि उमा भारती केंद्रीय मंत्री हैं, ऐसे में उनपर मंत्री पद छोड़ने का नैतिक दबाव होगा. इसके साथ ही लालकृष्ण आडवाणी जो राष्ट्रपति पद की रेस में थे. अब उनके लिए मुश्किल की घड़ी है.

यहां समझे पूरा मामला

पहली FIR

1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद गिराए जाने के बाद दो एफआईआर दर्ज हुई थी. एफआईआर संख्या 197 लखनऊ में दर्ज हुई. ये मामला ढांचा गिराने के लिए अनाम कारसेवकों के खिलाफ था.

दूसरी FIR

दूसरी एफआईआर यानी एफआईआर नंबर 198 को फैज़ाबाद में दर्ज किया गया. बाद में इसे रायबरेली ट्रांसफर किया गया. इस एफआईआर में आठ बड़े नेताओं के ऊपर मंच से हिंसा भड़काने का आरोप था. ये बड़े नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, साध्वी ऋतम्भरा, गिरिराज किशोर, अशोक सिंहल, विष्णु हरि डालमिया, उमा भारती और विनय कटियार थे.

कैसे बचे थे नेता?

बाद में इन दोनों मामलों को लखनऊ की कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया गया. सीबीआई ने जांच के दौरान साज़िश के सबूत पाए. उसने दोनों एफआईआर के लिए साझा चार्जशीट दाखिल की. इसमें बाल ठाकरे समेत 13 और नेताओं के नाम जोड़े गए. कुल 21 नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश की धारा 120b के आरोप लगाए गए.

2001 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने पाया कि एफआईआर 198 को लखनऊ की स्पेशल कोर्ट में ट्रांसफर करने से पहले चीफ जस्टिस से इसकी इजाज़त नहीं ली गयी थी. ऐसा करना कानूनन ज़रूरी था. इस वजह से लखनऊ की कोर्ट को एफआईआर 198 पर सुनवाई का अधिकार नहीं था.

CBI ने हाईकोर्ट के फैसले को दी थी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती

हाई कोर्ट ने इस निष्कर्ष के आधार पर दोनों मामलों को अलग चलाने का आदेश दिया. इस फैसले को बाद में सुप्रीम कोर्ट ने भी सही ठहराया. दोनों मामले अलग होने के चलते सीबीआई की साझा चार्जशीट बेमानी हो गयी. आठ नेताओं का मुकदमा रायबरेली वापस पहुंच गया. बाद में इसी को आधार बनाकर वो 13 नेता भी मुकदमे से बच गए जिनका नाम साझा चार्जशीट में शामिल था. इसका सबसे बड़ा असर ये हुआ कि किसी भी नेता के ऊपर आपराधिक साजिश की धारा बची ही नहीं.

13 नेताओं को मुकदमे से अलग करने का हाई कोर्ट का फैसला 2011 में आया. सीबीआई ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी.

JRCM का बहुमान…

4,306

भगवान श्री शीतलनाथ जिनालय प्रतिष्ठा महोत्सव बड़ी धूमधाम से सम्पन्न हुआ, जहाँ प्रभु भक्ति के साथ सेवार्थीयों का बहुमान समारोह भी रखा गया। उक्त सम्मान समारोह में जैन राजनैतिक चेतना मंच (more…)

श्री शीतलनाथ जिनालय से निकला ऐतिहासिक बरघोडा…

4,641

 

रायपुर: श्री शीतलनाथ जिनालय प्रतिष्ठा महोत्सव के अंतर्गत आज 16 अप्रेल रविवार को प्रातः 7:30 पर पूजन पश्चात भव्य ऐतिहासिक बरघोडा मंदिर जी से निकाला गया, हजारों की संख्या में धर्मावलंबी शोभायात्रा में भगवान के रथ और सुंदर झांकियों के साथ शामिल हुए जो देवेंद्र नगर के प्रमुख चौक चौराहों से होता हुआ पुनः मंदिर जी पहुंचा, जहाँ विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों के साथ परम पूज्य आचार्य भगवंत मणि प्रभ सूरी म सा के प्रवचन हुए।
इस आयोजन को ऐतिहासिक बनाने पर स्वर्णिम अक्षरों से लिखा जाएगा देवेंद्र नगर श्री संघ का नाम।

प्रवीण जैन
अध्यक्ष
जैन राजनैतिक चेतना मंच

भूपेश – सिंहदेव बोले रमण सिंह की पहचान दारू वाले बाबा की। जोगी जाएंगे भाजपा में…

2,491

अंबिकापुर. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल व नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने शनिवार को सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री रमन सिंह व सरकार पर तीखा हमला बोला। पत्रवार्ता में बघेल ने कहा रमन सिंह अब चाऊर वाले नहीं दारू वाले बाबा बन गए हैं, प्रदेश में घोटालों की सीमा पार हो गई है, अगर प्रधानमंत्री बोलते हैं कि न खाऊंगा और न किसी को खाने दूंगा तो उन्हें सबसे पहले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री व गृहमंत्री पर कार्रवाई करनी चाहिए।

इधर सिंहदेव ने कहा 14 साल पहले वाले रमन सिंह की छवि धूमिल हो चुकी है, उनकी सरकार के वनवास पर जाने का समय नजदीक आ चुका है। इस दौरान बघेल ने यूपी की तर्ज पर छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज माफी करने की मांग उठाई। उन्होंने जोगी के बारे में कहा कि रमन व जोगी में गहरी मित्रता है। कांग्रेस में जोगी के आने का तो कोई सवाल ही नहीं है। जोगी भाजपा में जाएंगे।

पत्रवार्ता को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि हमें बजट के समय में उम्मीद थी कि सरकार किसानों के लिए समर्थन मूल्य व बोनस पर बड़ी घोषणा करेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ और किसान एक बार फिर ठगे गए। उन्होंने कहा सरप्लस स्टेट कहलाए जाने वाले छत्तीसगढ़ में किसानों को दोगुने दाम पर बिजली दी जा रही है।

×



यूपी में जिस तरह से किसानों का कर्ज माफ किया गया है। वैसे ही छत्तीसगढ़ में भी किसानों का कर्ज व बिजली बिल माफ किया जाए और इन्हीं सब मुद्दों को लेकर हम प्रदेश भर में किसानों का सम्मेलन कर रहे हैं। उन्होंने हाथियों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि सरगुजा संभाग में हाथी व मानव के बीच संघर्ष बढ़ते जा रहा है और विभाग और सरकार कुछ नहीं कर पा रही है।

गजराज परियोजना सिर्फ कागजों में है, हाथी अंबिकापुर में घुस जाते हैं और प्रशासन-वन विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगती है इससे बड़ी लापरवाही क्या हो सकती है। बघेल ने कहा कि हाथियों के हमले में लगातार लोगों की जान जा रही है, सरकार द्वारा दिया जाने वाला मुआवजा भी अपर्याप्त है।

नान घोटाले की डायरी में रमन के परिवार का नाम
बघेल ने कहा कि रमन सिंह व सरकार पर पिछले तीन-चार साल में जो आरोप लगे हैं, वे पहले कभी नहीं लगे। 36 हजार करोड़ के नान घोटाला हुआ उससे रमन सिंह न इनकार कर पा रहे हैं और न ही अदालत में ले जा पा रहे हैं। बघेल ने आरोप लगाया कि नान घोटाले की जो डायरी मिली थी उसमें रमन सिंह के परिवार के सदस्यों सहित ड्राइवर तक का नाम है। इसी तरह हेलीकॉप्टर खरीदी में भी घोटाला हुआ।

बैकफुट पर है सरकार
बघेल ने कहा प्रदेश में करीब एक दर्जन भ्रष्ट अधिकारी हैं जिनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। गृहमंत्री के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति व स्वेच्छानुदान में गड़बड़ी के गंभीर आरोप हैं। अंतागढ़ टेपकांड का भी मामला न्यायालय में है। इस तरह से सरकार हमारे आरोपों पर पूरी तरह से बैकफुट पर है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री ने कहा था कि न खाऊंगा और न किसी को खाने दूंगा और अगर ये जुमला नहीं है तो सबसे पहले छत्तीसगढ़ के सीएम व एचएम के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

शराब बेचने प्रशासनिक आतंकवाद का लिया सहारा
नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा सरकार प्रदेश में शराब बेचने के लिए प्रशासनिक आतंकवाद का सहारा ले रही है। सरकार का सीधे शराब बेचने का मकसद शराब निर्माताओं से 25 प्रतिशत कमीशन लेना है। लोगों की भावनाओं को कुचलकर बिना ग्राम सभा के अनुमति के ही जगह-जगह प्रशासनिक भय डालकर शराब दुकान खोली जा रही है।

उन्होंने कहा ये वही सरकार है जिसके कार्यकाल में कई घोटाले व झीरम घाटी जैसी घटना हुई। सिंहदेव ने कहा अब रमन सिंह की 14 साल पहले वाली छवि धूमिल हो गई है। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने कहा अगर हमारी सरकार बनी तो प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी लागू करेंगे।

सरकार जिला पंचायत सदस्यों पर बना रही दबाव
टीएस सिंहदेव ने जिला पंचायत में अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के खिलाफ सदस्यों द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले महिला सदस्यों के पतियों के तबादले सुकमा व गरियाबंद किए जा रहे हैं। सरकार उन पर दबाव डाल रही है ताकि वे खिलाफ में वोटिंग न करें। पूरा अमला उनके पीछे पड़ा हुआ है, ये काफी निंदनीय है। उन्होंने कहा अब रमन सिंह की सरकार के वनवास का समय आ चुका है। अगले चुनाव में जनता उन्हें करारा जवाब देगी।

रमन के मित्र हैं जोगी, भाजपा में जाएंगे
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ से चुनौती मिलने के सवाल पर बघेल ने कहा कि हमारा मुकाबला सीधे भाजपा से है और किसी क्षेत्रीय दल का कोई वर्चस्व नहीं है। उन्होंने कहा जोगी अभी तक अफवाहों पर आधारित राजनीति ही करते आए हैं। कांग्रेस से जाने के बाद उनकी स्थिति एकदम शून्य हो गई है। उन्होंने कहा जोगी रमन सिंह के स्वाभाविक मित्र हैं। जोगी के दम पर ही रमन सिंह तीन बार सरकार बनाते आएं हैं। जनता पहले भ्रम में थी लेकिन अब सब जान चुकी है। बघेल ने कहा जोगी का कांग्रेस में आने का तो कोई सवाल ही नहीं है, हां इतना जरूर है कि वो भाजपा में जाएंगे।

जिनकी परफॉरमेंस अच्छी, उन्हें ही मिलेगा टिकट
विधानसभा चुनाव में टिकट वितरण के सवाल पर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि हमने स्पष्ट कह दिया है कि ये जरूरी नहीं कि सीटिंग एमएलए को दोबारा टिकट दिया जाए। क्योंकि पिछले बार मात्र 8 सीटिंग एमएलए ही चुनाव जीत पाए थे। अगर सभी दलों की बात करें तो 90 सीट में से 52 वो विधायक जीतकर आए थे जिन्होंने पहली बार चुनाव लड़ा था।

सिंहदेव ने कहा जिसकी परफॉरमेंस अच्छी होगी तथा जो विनिंग कैंडिडेट होगा, उसे ही टिकट मिलेगी। जिलाध्यक्षों के फेरबदल पर बघेल ने कहा कि जो चुनाव लडऩे के इच्छुक हैं उन्हें हम मौका देना चाहते हैं कि वे अपने क्षेत्र में जाकर तैयारी करें।

प्रशासन द्वारा व्यापारी के साथ जो घटना कारित की गई बेहद ही भयानक, गंभीर और शर्मनाक…

2,123

FB_IMG_1492143460910

*बलौदाबाजार* में जो हुआ वह आप हम किसी भी आम आदमी के साथ कभी भी घटित हो सकती है। सरकार का नियंत्रण अपने बेलगाम प्रशासन पर नही रहा, पुलिस बेख़ौफ़ सड़को पर राहगीरों के साथ अभद्रता कर बसूली कर रही है, सवाल जबाव करने वालों पर शासकीय कार्य मे बाधा 353 पर अपराध पंजीकृत करने की धमकी देती है।
बलौदाबाजार में एक व्यापारी को सरे आम पुलिस द्वारा रोका जाता है थाने ले जाया जाता है और थर्ड डिग्री दे कर जान से मार दिया जाता है तड़पते पिता को बेटियां दबाई देना चाहती है तो उन्हें भी रोका जाता है, इस घटना के बाद जनता में डर और रोष का माहौल है।
एक व्यापारी के साथ ये सब होता है तब चेम्बर चुप क्यों रह जाता है क्यों नही शासन और प्रशासन के खिलाफ छत्तीसगढ़ बंद कराता?
यदि उस सिख व्यापारी के परिवार के साथ समाज और स्थानीय व्यापारी खड़े ना हुए होते तो निश्चित ही पुलिस वाले मर्डर कर मामले को रफा दफा कर देते।
इस घटना के बाद हम शासन से मांग करते है कि अपने बेलगाम प्रशासन को समझाओ कि चेकिंग के नाम पर आम जनता को परेशान ना करे उनके साथ नम्र व्यवहार रखे, आखिर वे पब्लिक सर्वेंट है ना की मालिक यदि कोई कानून तोड़ता है तो निश्चित ही चालान काटे खुद कानून को तार तार ना करे।
क्योंकि जिस तरह उनके बच्चे घर पर इन्तेजार कर रहे होते है उसी तरह सबके परिजन होते है।

भगवान मृतात्मा को शांति दे और परिजनों को दुःख सहने की शक्ति ओम शांति

*प्रवीण जैन*
*जिलाध्यक्ष कांग्रेस व्यापार रायपुर*

वीर फाउंडेशन रजि

4,380

छत्तीसगढ़ राज्य स्तरीय एक सामाजिक संस्था जो सर्व समाज में सामाजिक, सांस्कृतिक, खेल, शासकीय योजनाओं की जानकारी, महिला एवं बाल विभाग कल्याण, प्रशिक्षण, शिक्षा, चिकित्सा इत्यादि अनेक क्षेत्रों में सक्रीय रूप से काम कर रही है।