रायपुर में आवासीय हॉकी अकादमी तथा बिलासपुर में एथलेटिक, कुश्ती एवं तैराकी के लिए ‘एक्सिलेंस सेन्टर’ की मान्यता

400

आपको यह बताते हुए गर्व एवं संतोष की अनुभूति हो रही है कि छत्तीसगढ़ के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी द्वारा “गढ़बो_नवा_छत्तीसगढ़” के जिस संकल्प को लेकर आगे बढ़ रहे हैं, वह अब साकार रूप ले रहा है।

भूपेश सरकार के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद पहली बार रायपुर में ‘आवासीय हॉकी अकादमी’ एवं बिलासपुर में ‘एक्सिलेंस सेन्टर’ प्रारंभ होने जा रहा है। जिससे हमारे छत्तीसगढ़ राज्य के खिलाड़ियों का सपना साकार हो सकेगा।

रायपुर में आवासीय हॉकी अकादमी तथा बिलासपुर में एथलेटिक, कुश्ती एवं तैराकी के लिए ‘एक्सिलेंस सेन्टर’ की मान्यता मिलने पर छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी का आभार व्यक्त किया है तथा सभी युवा खिलाड़ियों, खेल प्रशिक्षकों, अधिकारी- कर्मचारियों सहित सभी प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है।

खेलबो जीतबो गढ़वो नवा छत्तीसगढ़

CPL – छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग के नए सत्र की शुरुआत मुख्यमंत्री जी के निर्वाचन क्षेत्र से हुई प्रारम्भ

652

पाटन विधानसभा क्षेत्र के CPL की सलेक्टेड 2 टीमों के मध्य मैच से प्रदेश भर में CPL की तैयारियां प्रारम्भ की गई। इस अवसर पर माननीय मुख्यमंत्री जी के सुपुत्र श्री चैतन्य बघेल जी ने खिलाड़ियों की हौसला अफजाई की। छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने बतलाया कि कोरोना काल की वजह से प्रदेश भर में खेल गतिविधियां थम सी गई थी जिसके कारण CPL टूर्नामेंट भी अधर में पड़ गया था, अब प्रदेश में परिस्थितियां काफी हद तक सामान्य हो रही है जिसके बाद मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के निर्वाचन क्षेत्र पाटन विधानसभा की दो CPL टीमों के मध्य सलेक्शन मैच रखा गया, अब धीरे धीरे सभी जिलों में सलेक्शन ट्रायल मैच कराया जायेगा और शीघ्र ही छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग के तारीखों की घोषणा करेंगे।

Chhattisgarh Pradesh Congress Sports Cell

छत्तीसगढ़ी क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए खुशखबरी, प्रदेश में CPL-T20 की तैयारी

1,396

छत्तीसगढ़ प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी की मंशानुरूप प्रदेश में सभी तरह के खेलों को बढ़ावा दिया जा रहा है, खासकर पिछड़े व आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों के खिलाड़ियों को मुख्यधारा से जोड़ने कई खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन हम लगातार करते आ रहे हैं, इसी तारतम्य में खेल कांग्रेस द्वारा छत्तीसगढ़ में वास्तविक क्रिकेट को बढ़ावा देने IPL की तर्ज पर अपने प्रदेशवासियों के लिए CPL- छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग T20 क्रिकेट प्रतियोगिता कराने का निर्णय लिया गया है, ज्ञात हो यह बहुप्रतीक्षित टूर्नामेंट अप्रैल में प्रस्तावित था, जिसके लिए हमारे द्वारा टेलेंट हंट प्रतियोगिता के माध्यम से प्रदेश के प्रत्येक जिलों में सैकड़ो खिलाड़ियों में से 30-30 खिलाड़ियों को कड़ी चुनौतियों के बीच तैयार किया गया था। इस टूर्नामेंट की घोषणा व प्रदेश भर में ट्रायल के उपरांत हजारों खिलाड़ियों व खेल प्रेमियों में उत्साह का वातावरण था तथा ऐसे खिलाड़ी जो गरीब, पिछड़े व आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र से थे उनमें भी आशा की नई किरण जगी थी, किन्तु कोरोना संक्रमण की वजह से प्रस्तावित क्रिकेट प्रतियोगिता हमें टालनी पड़ी। अब देश-विदेश में पुनः विभिन्न खेल प्रतियोगितायें प्रारम्भ हो रही हैं तथा देश का सबसे लोकप्रिय क्रिकेट टूर्नामेंट IPL भी प्रारम्भ कर दिया गया है। हमसे प्रदेश के खिलाड़ियों, खेल प्रेमियों व अभिभावकों द्वारा लगातार इस टूर्नामेंट को कराये जाने का आग्रह किया जा रहा है, जिसके बाद अब पुनः तैयारियां प्रारम्भ की जा रही है।
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस स्पोर्ट्स सेल के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने बतलाया कि इस प्रतियोगिता के माध्यम से हम अपने प्रदेश को अन्य राज्यों के समकक्ष खड़ा करने और हमारे खिलाड़ियों को बेहतर, बड़ा व आधुनिक मंच तैयार कर के देना चाहते हैं, जिससे हमारे प्रदेश के क्रिकेट खिलाड़ी रणजी, IPL व देश के लिए तैयार हो सकें। इस प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के स्थानीय खिलाड़ियों को ही वरिययता दी जावेगी, हमारे आदिवासी अंचलों में प्रतिभावान खिलाड़ियों की कोई कमी नही है, उचित मंच ना मिल पाने के कारण खिलाड़ियों का टेनिस बॉल क्रिकेट की तरफ ज्यादा रुझान रहता है, जिससे वे अपनी क्षमता को गलत दिशा में व्यर्थ कर देते हैं। हम चाहते हैं कि हमारे प्रदेश के खिलाड़ियों को भी वास्तविक क्रिकेट के प्रति जागरूक व प्रोत्साहित किया जाये। हम 15 दिसंबर 2020 से 15 फरवरी 2021 के मध्य नवा रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह अंतराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, परसदा में दिन-रात्रि का यह टूर्नामेंट कराना चाहते हैं तथा इस प्रतियोगिता का नाम CPL- छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग रखे हैं, हमनें इस प्रतियोगिता को छत्तीसगढ़ क्रिकेट स्टेट संघ के उद्देश्यों के अनुरूप व मार्गदर्शन में कराने का निर्णय लिया है तथा इसके लिए वरिष्ठ पदाधिकारियों से पत्राचार कर सहमति मांगी है। हम यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि यह क्रिकेट प्रतियोगिता किसी भी संस्था के समानांतर गतिविधि नही है बल्कि प्रदेश के विभिन्न खेलसंघों के सहयोग की दिशा में एक सकारात्मक कदम है। हम आशा करते हैं कि प्रदेश में क्रिकेट के विकास के लिए शासन प्रशासन के साथ सभी खेलसंघों, खेल एकडमियों, पूर्व खिलाड़ियों व प्रशिक्षकों का मार्गदर्शन, आशीर्वाद व सहयोग हमें प्राप्त होगा।

इस टूर्नामेंट के विषय में प्रवीण जैन द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री जी से चर्चा कर पूरी जानकारी प्रदान की गई है जिस पर माननीय मुख्यमंत्री जी ने प्रसन्नता व्यक्त की है।

प्रदेश के वे सभी खिलाड़ी जिन्होंने जिलों में CPL सलेक्शन ट्रायल दिया है वे सभी अपने जिले के प्रभारी से आगे की रूपरेखा की जानकारी प्राप्त कर लेंवे।

भवदीय
अधि. प्रवीण जैन
प्रदेश अध्यक्ष
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी खेलकूद प्रकोष्ठ

 

इंदरचंद धाड़ीवाल जी के निधन से छत्तीसगढ़ खेलों के एक युग का अंत, खेलप्रेमियों के लिए अपूरणीय क्षति: प्रवीण जैन

487

इंदरचंद धाड़ीवाल जी के निधन से छत्तीसगढ़ खेलों के एक युग का अंत, खेलप्रेमियों के लिए अपूरणीय क्षति: प्रवीण जैन

कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता और प्रदेश में सभी खेलों को तन मन धन से बढ़ावा देने वाले वरिष्ठ समाजसेवी श्री इंदरचंद धाड़ीवाल जी का आज दिनांक 30 सितंबर को हृदयाघात से दुःखद निधन हो गया। श्री धाड़ीवाल रायपुर शहर के कांग्रेस अध्यक्ष की कमान लंबे समय तक संभाली और समाज सेवा के क्षेत्रों में भी उनका अतुल्नीय योगदान रहा है। श्री धाड़ीवाल जी के जाने से यदि सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ेगा तो वो है प्रदेश के हजारों खिलाड़ियों और खेलप्रेमियों को, श्री धाड़ीवाल टेनिस संघ, बैडमिंटन सहित अनेकों खेल संघों में पदाधिकारी रहे उनके संरक्षण में प्रदेश के सबसे बड़े खेल संस्था वीर स्पोर्ट्स क्लब एवं छत्तीसगढ़ खेल महासंघ का गठन किया गया, श्री धाड़ीवाल जी का कांग्रेस के खेल विभाग को लगातार भरपूर सहयोग व मार्गदर्शन प्राप्त होता रहा वे खेल कांग्रेस के प्रमुख सलाहकार की भूमिका भी लगातार निभाते रहे। उनके द्वारा कई सफल व बड़े खेल आयोजन रायपुर में किये गए जिनसे हजारों खिलाड़ियों को लाभ मिलता था।
श्री धाड़ीवाल जी के दुखद निधन से यदि कहीं सबसे ज्यादा नुकसान होगा तो वह खेल के क्षेत्र को होगा। उनकी इस कमी को भरपाना असंभव है। उनके निधन से ना सिर्फ कांग्रेस परिवार वरण सम्पूर्ण खेलजगत में शोक की लहर है।

अधि. प्रवीण जैन
प्रदेश अध्यक्ष
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी खेलकूद प्रकोष्ठ

छत्तीसगढ़ टास्कफोर्स के जवान ने दिया मल्लखम्ब को एक नया आयाम

413

भारत का प्राचीन युद्ध कला खेल मल्लखम्ब छत्तीसगढ़ में तेजी से हो रहा लोकप्रिय

भारत में 1962 में पहली बार मलखम की राष्ट्रीय चैंपियनशिप उज्जैन में जिम्नास्टिक फेडरेशन द्वारा आयोजित कराई गई और 1982 में मल्लखम्ब फेडरेशन का गठन हुआ। 1982 से आज तक राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन मल्लखम्ब फेडरेशन द्वारा किया जा रहा है, यह खेल प्रमुखतः महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश, केरल, पॉन्डिचेरी, गुजरात, राज्यस्थान, आदि जगहों पर अच्छी तरह से विकसित हुआ है। वर्ष 2019 फरवरी माह में पहली वार्ड चैंपियनशिप का आयोजन महाराष्ट्र के मुम्बई शहर के दादर शिवाजी पार्क में आयोजन की गई, जहां 17 देशों के प्रतिभाशाली खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया, जिसमें प्रमुख रूप से जपान, अमेरिका, जर्मनी, इंग्लैंड, फ्रांस आदि देश भी शामिल हुए। इसके बाद अब मलखम का 2021 में द्वितीय विश्व चैंपियनशिप अमेरिका के न्यूजर्सी शहर में आयोजन होगा। इसके अतिरिक्त साउथ एशिया भी 2021 में होना प्रस्तावित है। छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने प्रदेश में मलखम्ब के विकास और मान्यता के लिए प्रदेश सरकार को पत्र भेजा है और इस खेल के प्रशिक्षण मनोज प्रसाद से मलखम्ब खेल के विषय पर सम्पूर्ण जानकारी एकत्र की है।
छत्तीसगढ़ में मल्लखम्ब खेल जिला नारायणपुर, बिलासपुर, सरगुजा, रायपुर, जांजगीर-चांपा, कोरबा जैसे जिलों में कई वर्षों से सुचारू रूप खेला जा रहा है और यहां बड़ी संख्या में खिलाड़ी तैयार हो रहे हैं। छत्तीसगढ़ मल्लखम्ब संघ बिलासपुर से संचालित होता है। वर्तमान में मल्लखम्ब खेल के सबसे ज़्यादा खिलाड़ी नारायणपुर जिले से आते हैं, मनोज प्रसाद मल्लखम्ब प्रशिक्षक नारायणपुर द्वारा 2017 से 4 बच्चों से मल्लखम्ब का प्रशिक्षण प्रारम्भ किया और अब इनके पास लगभग 400 सौ खिलाड़ी प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं, जिसमे 150 बालिकाएं भी हैं, जिसमें प्रत्येक वर्ष 50 से 60 मलखम खिलाड़ी राष्ट्रीय स्पर्धाओं में हिस्सा लेते हैं। 4-5 नवम्बर 2019 को राष्ट्रीय स्तर के खेल में छत्तीसगढ़ को पहला स्वर्ण पदक प्राप्त हुआ जो नारायपुर जिले के खिलाड़ी राजेश कोर्राम ने दिलाया, फिर उसके बाद 5-7 मार्च 2020 को आयोजित 32 वी राष्ट्रीय मल्लखम्ब प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ के खिलाडिय़ों ने इतिहास बना दिया और जूनियर टीम ने चैंपियनशिप के साथ साथ 8 स्वर्ग पदक और 3 कास्य पदक जीत कर 40 वर्षों के महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों के एकाधिकार को मात दे कर एतिहासिक जीत दर्ज की। इस प्रतियोगिता में 20 खिलाड़ी नारायणपुर जैसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र से थे जिन्होंने 10 से ज्यादा पदक दिलाया।

मल्लखम्ब खेल
योगा, जिम्नास्टिक एवं एक्रोबेटिक से मिलकर बना है, इस खेल की तीन तरह की प्रतियोगिताएं होती है:-

(01) पोल मल्लखम्ब
(02) रोप मल्लखम्ब
(03) हैंगिंग मल्लखम्ब

खिलाड़ियों इन तीनो पर अपना सर्वश्रेष्ठ आशनों को प्रदर्शित करना होता है। जिसमें खिलाड़ी को सिर्फ 90 सेकंड का समय मिलता है, जिसमें खिलाड़ी को माउंट, डिसमॉन्ट, एक्रोबेटिक, डिफिकल्ट के साथ उसे 16 एलिमेंट करना होता है यह खेल सिर्फ 10 अंक का होता है जिसमे खिलाड़ि को सर्वश्रेष्ठ नम्बर उठाना होता है। खिलाड़ी का हर गलती पर नम्बर कट जाता है। इस खेल में 7 निर्णायक होते हैं।

छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस 7771001701, छत्तीसगढ़ खेल महासंघ 93294984701

उपरोक्त नम्बरों में अपने क्षेत्र के खेल की सम्पूर्ण जानकारी आप भेज सकते हैं जिसे हम प्रसारित करेंगे।

छत्तीसगढ़ 55 क्रीड़ा अधिकारी के पदों पर भर्ती के लिए जारी की चयन सूची

961

 

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग ने उच्च शिक्षा विभाग के अंतर्गत 55 क्रीड़ा अधिकारियों के पदों पर भर्ती सूचीं जारी की है, इस पर छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के प्रति आभार व्यक्त कर कहा है कि इससे उच्च शिक्षा ग्रहण करने वाले खिलाड़ियों को मदद मिलेगी और छत्तीसगढ़ के खेल को आगे बढ़ाने बेहतर माहौल तैयार किया जा सकेगा। प्रवीण जैन ने माननीय मुख्यमंत्री जी से आग्रह किया है कि अतिशीघ्र खेल एवं युवा कल्याण विभाग के अंतर्गत भी खेल अधिकारियों और NIS कोच भर्ती प्रक्रिया भी पूर्ण कराने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करें, जिससे तेजी से प्रदेश में खेल और खिलाड़ियों का विकास संभव हो सकेगा।

अधिक जानकारी के लिए www.psc.cg.gov.in पर लॉगइन करें।

www.psc.cg.gov.in

भारतीय बैडमिंटन टीम में स्थान बनाने वाली छत्तीसगढ़ की बेटी आकर्षी कश्यप डेनमार्क में सायना नेहवाल और पी वी संधू के साथ बनेगी भारत की चुनौती

767

 

भारतीय बैडमिंटन टीम में स्थान बनाने वाली छत्तीसगढ़ की बेटी आकर्षी कश्यप डेनमार्क में सायना नेहवाल और पी वी संधू के साथ बनेगी भारत की चुनौती

छत्तीसगढ़ की उदीयमान बालिका बैडमिंटन खिलाड़ी आकर्षि कश्यप ने अपनी प्रतिभा के दम पर ऑल इंडिया रैंकिंग में जबरदस्त छलांग लगाई। भारतीय बैडमिंटन एसोसिएशन की जारी रैंकिंग में भिलाई की आकर्षि ने अंडर-१७ में देश की नम्बर वन खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया है। जिसके बाद अब आकर्षि का चयन भारतीय टीम में किया गया है, आकर्षि उबेर कप में भारतीय दल में सायना नेहवाल और पी वी संधू के साथ डेनमार्क में 3 से 11 अक्टूबर तक होने वाले टूर्नामेंट में खेलेंगी। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस के अध्यक्ष अधि. प्रवीण जैन ने आकर्षि को फोन कर बधाई दी और कहा कि आपकी इस उपलब्धि से पूरा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित हो रहा है। श्री जैन ने कहा है कि छत्तीसगढ़ का नाम रौशन करने वाली इस बेटी का सम्मान खेल कांग्रेस द्वारा किया जायेगा।

भारतीय टीम में शामिल किए जाने पर दुर्ग-भिलाई की ख्यातिप्राप्त बैडमिंटन खिलाड़ी बहन आकर्षि कश्यप एवं छत्तीसगढ़ के सबसे सफल कोच संजय मिश्रा सहित पूरे बैडमिंटन संघ को बहुत बहुत बधाई, छत्तीसगढ़ खेल कांग्रेस आपके उज्ज्वल भविष्य की मंगल कामना करती है।

अब 63 खेलों के प्रतिभाशालियों को मिलेगी नौकरी, आदेश जारी

3,214

अब 63 खेलों के प्रतिभाशालियों को मिलेगी नौकरी, आदेश जारी

    
63 sports talent will get job

63 खेलों की सूची में से किसी में भी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में किसी राज्य या देश का प्रतिनिधित्व किया है वे ग्रुप सी स्तर के पदों के लिए नियुक्ति के पात्र होंगे

नई दिल्ली। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने मंगलवार 1 सितंबर 2020 को जारी एक आदेश में कहा कि केंद्र ने ‘सी’ स्तर के सरकारी पदों पर बेहतरीन खिलाड़ियों की सीधी भर्ती के लिए 63 खेलों की सूची तैयार की है। इस सूची मेंं रस्साकशी, मल्लखंब और पैरा-खेल जैसे 20 खेलों को शामिल किया है।

भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों में ग्रुप सी पद पर खिलाड़ियों की भर्ती के लिए 43 खेलों की सूची में कुछ और खेलों को शामिल करने के प्रस्ताव के बाद यह कदम उठाया गया है। कार्मिक मंत्रालय के आदेश में कहा गया है कि खेल विभाग की सिफारिश को स्वीकार करने का निर्णय लिया गया है।

मौजूदा निर्देशों के अनुसार जिन खिलाड़ियों ने इन 63 खेलों की सूची में से किसी में भी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में किसी राज्य या देश का प्रतिनिधित्व किया है वे ग्रुप सी स्तर के पदों के लिए नियुक्ति के पात्र होंगे।

यह भी प्रावधान किये गए

  • ऐसे खिलाड़ी जिन्हें राष्ट्रीय शारीरिक दक्षता अभियान के तहत, शारीरिक दक्षता में राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, वे भी इस तरह के पदों पर नियुक्ति के लिए पात्र हैं।
  • कार्मिक मंत्रालय के 2013 में जारी निर्देश के मुताबिक, ऐसी कोई भी नियुक्ति तब तक नहीं की जा सकती है जब तक कि उम्मीदवार सभी प्रकार से पद के लिए आवेदन करने के लिए पात्र हो और विशेष रूप से, पद के लिए लागू भर्ती नियमों के तहत निर्धारित आयु, शैक्षिक या अनुभव योग्यता के संबंध में छूट दी गई हो।

इन खेलों को सूची में शामिल किया गया

  • तीरंदाजी
  • एथलेटिक्स- ट्रैक और फील्ड प्रतियोगिता सहित
  • आत्या-पात्या
  • बैडमिंटन
  • बॉल-बैडमिंटन
  • बास्केटबॉल
  • बिलियर्ड्स एवं स्नूकर
  • मुक्केबाजी
  • ब्रिज
  • कैरम
  • शतरंज
  • क्रिकेट
  • साइकिलिंग
  • घुड़सवारी खेल
  • फुटबॉल
  • गोल्फ
  • जिम्नास्टिक (बॉडी बिल्डिंग सहित)
  • हैंडबॉल
  • हॉकी
  • आइस-स्कीइंग
  • आइस-हॉकी
  • आइस-स्केटिंग और जूडो के साथ कबड्डी
  • कराटे-डो
  • कयाकिंग और कैनोइंग
  • खो-खो
  • पोलो
  • पावरलिफ्टिंग
  • राइफल निशानेबाजी
  • रोलर स्केटिंग
  • नौकायन
  • सॉफ्ट बॉल
  • स्क्वाश
  • तैराकी
  • टेबल टेनिस
  • ताइक्वांडो
  • टेनी-कोइट
  • टेनिस
  • वॉलीबॉल
  • भारोत्तोलन
  • कुश्ती और याचिंग

अब बेसबॉल, रग्बी, बास्केटबॉल, बधिर खेल, टग-आफ-वॉर, मल्लखंब और पैरा स्पोर्ट्स (पैरा ओलंपिक और पैरा एशियन गेम्स में शामिल खेल) सहित 20 और खेलों को इसमें शामिल करने के लिए इस सूची का विस्तार किया गया है।

14 खेल संघों की मान्यता निरस्त करना खेल संचनालाय की तकनीकी चूक: प्रवीण जैन

598


14 खेल संघों की मान्यता निरस्त करना खेल संचनालाय की तकनीकी चूक: प्रवीण जैन

हजारों खिलाड़ियों का भविष्य दांव पर

फैसले के पुनर्विचारणार्थ पत्र भेजा

छत्तीसगढ़ प्रदेश में खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा 14 खेल संघों की मान्यता निरस्त कर दी है, जो पूर्णतः त्रुटिपूर्ण फैसला संचनालाय से लिया गया है, इससे हजारों खिलाड़ियों का भविष्य अंधकार में डूब जाएगा, इस तरह का फैसला देश के किसी अन्य राज्यों में नही लिया गया, इस संबंध में तकनीकी जानकारी के साथ राजपत्र में प्रकाशित गजट की कॉपी के साथ छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अधिवक्ता प्रवीण जैन ने माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, माननीय खेल मंत्री और खेल सचिव को पत्र लिख कर इस फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है।

पत्र पेज क्रमांक 1

क्रमांक 2

R